ई-जॉब मित्र रोज़गार सेंटर्स, ई-मित्र एवं विध्यार्थियों के लिए बहुत उपयोगी वेबसाइट है। Best Free Job Alert Website


Ayushman Bharat Yojana 2018-19 आयुष्मान भारत योजना संपूर्ण जानकारी

Ayushman Bharat Yojana – Ayushman Bharat Yojana or National Health Protection Scheme is a program which aims to provide a service to create a healthy, capable and content new India. It has two goals, one, creating a network of health and wellness infrastructure across the nation to deliver comprehensive primary healthcare services, and another is to provide insurance cover to at least 40 per cent of India’s population which is majorly deprived of secondary and tertiary care services. Indu Bhushan appointed as a Chief Executive Officer (CEO) and Dr Dinesh Arora appointed as deputy ceo of Ayushman Bharat Yojana.

Prime Minister Shri Narendra Modi, in his Independence Day speech of 2018, announced the launch of the Ayushman Bharat-National Health Protection Scheme (AB-NHPS). He said that the national health insurance scheme will be rolled out on a pilot basis in some states. The full-scale roll-out of the project is expected to be in September end.

On September 23, 2018, the Prime Minister Narendra Modi launched Ayushman Bharat, world’s largest government-funded healthcare scheme in Jharkhand’s capital Ranchi. The Centre’s flagship scheme has been renamed as PM Jan Arogya Yojana (PMJAY). The scheme will become operational from September 25 on the birth anniversary of Pandit Deendayal Upadhyay.

According to the various government websites, here is a look at what the health insurance scheme is all about.

Features of Ayushman Bharat Yojana

Ayushman Bharat consists of two major elements.

  1. National Health Protection Scheme.
  2. Wellness centres.

National Health Protection Scheme will provide cashless treatment to patients. And wellness centres will provide primary care to the patients. In fact, the government will upgrade existing Public Health Centres to Wellness Centres. According to news reports, the welfare scheme will be rolled out on August 15. The government has roped in multiple agencies to ensure seamless coordination between the centre and states.

What is it?

Ayushman Bharat is a health insurance scheme under which 10.74 crore poor households across India will be eligible for reimbursement of up to Rs 5 lakh per year towards hospitalisation expenses of their family members. Apart from the expenses on in-patient treatment, the scheme also covers pre- and post-hospitalisation costs to some extent.

Key features of the Modicare:

  • There is no restriction on family size, age or gender.
  • All members of eligible families as present in SECC database are automatically covered.
  • No money needs to be paid by the family for treatment in case of hospitalization
  • All pre-existing conditions are covered from day one of the policy. The benefits cover will include pre and post hospitalisation
  • You can go to public or empanelled private hospitals across the country and get free treatment
  • You need to carry any prescribed ID to receive treatment at the hospital

How to check eligibility

  • Go to NHA portal and Log in to mera.pmjay.gov.in
  • Enter your mobile number and captcha code.
  • A one-time password will be sent to your mobile number.
  • After entering the OTP, you will be taken to this screen.
  • Select the state: Fill all the fields like name, mobile number, ration card number, or Rashtriya Swasthya Bima Yojna URN number.
  • If your name is there in the list, it will show up on the right-hand side of the page.
  • Click on ‘Family Members’ tab to find the beneficiary details

Required documents

  • Respective special category certificates
  • Age proof documents
  • Family structure
  • Identification details
  • Contact information
  • Scanned copy of Aadhar
  • Income certificate
  • Caste certificate

Registration: No registration required. PMJAY will provide cashless and paperless access to services for the beneficiary at the point of service.

How will beneficiary be identified at the hospital

  • Hospital help desk- Identitity verification through Aadhaar and other ID
  • Beneficiary identification system using letter with family card
  • Give e- card and you can meet the doctor

How to access care under PMJAY

  • Patient approaches empanelled hostiptals, ‘aarogya mitras’ to provide support in beneficiary verification, authentication, query management, grievance redressal.
  • Confirm eligibility preferably through Aadhaar
  • Pre authorisation request and approval- Hospitals selects packages, checks balance
  • Submits supporting evidence required for treatment
  • Treatment, discharge and beneficiary feedback

Ayushman Bharat Yojana

आयुष्मान भारत योजना: कैसे मिलेगा मुफ्त बीमा

केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2018-19 के आम बजट में ‘आयुष्मान भारत योजना’ शुरू करने की घोषणा की थी. इस योजना के तहत देश के लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएंगी.  इस राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना के तहत प्रति वर्ष 10 करोड़ गरीब परिवार को इलाज के लिए 5-5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया जाएगा. सरकार ने फिलहाल इस योजना के लिए 2000 करोड़ रुपये का आवंटन करने की बात कही थी. आपको बता दें कि आयुष्मान भारत योजना के तहत जन आरोग्य अभियान की शुरुआत होगी. पहले चरण की शुरुआत हो चुकी है. इसके तहत हेल्थ सेंटर्स खोले गए है. इसके बाद अब 25 सितंबर से इंश्योरेंस स्कीम शुरू होगी. इसके तहत मुफ्त में हेल्थ बीमा मिलेगा.

आयुष्मान भारत योजना की विशेषताएँ

  • सरकार प्रत्येक परिवार को 5 लाख प्रदान करेगी।
  • अस्पतालों में विभिन्न प्रकार के मेडिकल चेकअप मुहैया कराए जाएंगे।
  • इस योजना के तहत, जिला अस्पतालों में सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी।
  • टीवी रोगियों के लिए जरूरतमंद सामग्री प्रदान करने के लिए 600 करोड़ आवंटित किए गए हैं।
  • चिकित्सीय शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए, सरकार ने इस बार 24 नए मेडिकल कॉलेज और अस्पतालों की स्थापना का फैसला किया है।
  • आपको इस योजना का लाभ लेने के लिए 1200 तक का प्रीमियम भरना होगा जो कि सालाना भरना होगा |
  • इस योजना के तहत व्यक्ति सरकारी और निजी दोनो हस्पतालों में अपना इलाज करवा सकता है |
  • 8735 हस्पतालों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा जाएगा |
  • मरीज के हस्पताल में भर्ती होने से पहले का खर्च और हस्पताल से डिसचार्ज होने के बाद का खर्च भी सरकार द्वारा किया जाएगा |

(1) आयुष्मान भारत योजना के लिए लोगों का चयन कैसे होगा?
जवाब-
10 करोड़ परिवारों का चयन 2011 की जनगणना के आधार पर किये जाने के आसार हैं. आधार नंबर से परिवारों की सूची तैयार की गई है और आपको सुविधा का लाभ मिलेगा. सूची पूरी तरह तैयार हो जायेगी तब इस योजना का लाभ लेने के लिए किसी और पहचान पत्र की जरूरत नहीं होगी.

फिलहाल विशेषज्ञों का आंकलन है कि अगर इस योजना के तहत 50 करोड़ लोगों को फायदा पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है. पहले फेज में 10 करोड़ लोगों को ही मिल पाएगा लाभ. रीईंबर्स प्रक्रिया में गड़बड़ी होने की संभावनाओं को देखते हुए यह योजना पूरी तरह कैशलेस होगी. इसका मतलब यह है कि जो भी आयुष्मान योजना के तहत बीमित व्यक्ति है उसे अपने इलाज का खर्च नहीं देना होगा. पांच लाख रुपए तक का खर्च उसे सरकार की तरफ से आसानी से मिल जायेगा.

केंद्र सरकार ने आयुष्मान भारत योजना के लिए बजट में 2 हजार करोड़ रुपए की राशि आवंटित की है. बीपीएल परिवारों के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के जगह इस योजना को शुरू किया जा रहा है. पहले इस योजना में सिर्फ 30 हजार रुपए तक का बीमा कवर दिया जाता था.

(2) मैं इस योजना के तहत आता हूं कि नहीं कैसे ये पता चलेगा, क्या रजिस्ट्रेशन करना होगा?
जवाब- 
इस योजना में सरकार ने लोगों को चुन लिया है. मतलब साफ है कि आपको कुछ नहीं करना है. सन 2011 की जनगणना में गरीबी रेखा से नीचे के लोगों को इसमें जगह मिलेगी. पहले आपको अपनी पंचायत में पता करना होगा. इसके अलावा कुछ दिनों में सरकार ऑनलाइन टूल उपलब्ध कराएगी. इसके जरिए आप जानकारी प्राप्त कर सकते हैं. अगर आप इस योजना के लिए योग्य है तो रजिस्ट्रेशन करा पाएंगे. फिलहाल इस सॉफ्टवेयर की टेस्टिंग चल रही है.

(3) अस्पताल जाकर क्या करना होगा?
जवाब-
मरीज को अस्पताल में भर्ती होने के बाद अपने बीमा दस्तावेज देने होंगे जिसके आधार पर अस्पताल इलाज के खर्च के बारे में बीमा कंपनी को सूचित कर देगा और बीमित व्यक्ति के दस्तावेजों की पुष्टि होते ही इलाज बिना पैसे दिये हो सकेगा. इस योजना के तहत बीमित व्यक्ति सिर्फ सरकारी ही नहीं बल्कि निजी अस्पतालों में भी इलाज करा सकेगा. निजी अस्पतालों को इस योजना के साथ जोड़ने का कार्य शुरू कर दिया गया है. इस योजना से निजी अस्पतालों को भी लाभ मिलने की संभावना है क्योंकि पैसे की कमी के चलते काफी लोग सिर्फ सरकारी अस्पतालों में ही जाते थे जोकि अब निजी अस्पतालों में भी जा सकेंगे. साथ ही यह योजना सरकारी अस्पतालों पर बढ़ती भीड़ कम कर पाएगी.

सरकार इस योजना के तहत देशभर में डेढ़ लाख से ज्यादा हेल्थ और वेलनेस सेंटर खोलेगी जोकि आवश्यक दवाएं और जांच सेवाएं निःशुल्क मुहैया करायेंगे साथ ही जीवनशैली से जुड़ी बीमारियों पर नियंत्रण पाने के लिए प्रशिक्षण भी दिया जायेगा. इस योजना के मद में 1200 करोड़ रुपये रखे गये हैं.

(4) कौन सी बीमारियों का इलाज करवा पाएंगे 
जवाब-मैटरनल हेल्थ और डिलीवरी की सुविधा, नवजात और बच्चों के स्वास्थ्य, किशोर स्वास्थ्य सुविधा, कॉन्ट्रासेप्टिव सुविधा और संक्रामक, गैर संक्रामक रोगों के प्रबंधन की सुविधा, आंख, नाक, कान और गले से संबंधित बीमारी के इलाज के लिए अलग से यूनिट होगी. इसके अलावा बुजुर्गों के इलाज की सुविधा भी होगी.

(5) कौन से राज्य में कितने वेलनेस सेंटर
जवाब-
इसके दो कंपोनेंट हैं. पहला, 10.74 लाख परिवारों को मुफ्त 5 लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा. दूसरा, हेल्थ वेलनेस सेंटर. इसमें देश भर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अपडेट होंगे. इन सेंटर में इलाज होगा और मुफ्त दवाइयां मिलेंगी. छत्तीसगढ़ में 1000, गुजरात में 1185, राजस्थान में 505, झारखंड में 646, मध्य प्रदेश में 700, महाराष्ट्र में 1450, पंजाब में 800, बिहार में 643, हरियाणा में 255.

(6) क्या आधार कार्ड के बिना मिलेगा योजना का लाभ
जवाब-
आयुष्मान भारत योजना के लिए आपको आधार कार्ड की जरूरत नहीं है. सुप्रीम कोर्ट के अनुसार किसी भी सरकारी स्कीम का लाभ उठाने के लिए आपको आधार कार्ड की जरूरत नहीं है.

Ayushman Bharat Yojana Website

आयुष्मान भारत योजना की वेबसाइट सरकार द्वारा लॉंच कर दी गयी है | इस वेबसाइट की मदद से आप यह जान सकेंगे कि आपका नाम लाभार्थी सूची में है की नही | इस वेबसाइट का नाम है mera.pmjay.gov.in

लाभार्थी सूची में अपना नाम कैसे देखें

  • सबसे पहले mera.pmjay.gov.inपर जाएँ  |
  • अब आपको इस पेज पर अपना मोबाइल नंबर और दिया हुआ captcha code भरना होगा |
  • इसके बाद Generate OTP के लिंक पर क्लिक करना होगा |
  • OTP भरने के बाद आपके सामे कुछ इस तरह का पेज ओपन होगा |
  • इस पेज पर आपको सबसे पहले अपना राज्य सेलेक्ट करना होगा |
  • उसेक बाद आपको category सेलेक्ट करनी होगी जिस में से आप दिए हुए ऑप्षन्स में से कुछ भी सेलेक्ट कर सकते हैं |
  • आप जो भी category सेलेक्ट करेंगे आपको उसकी डीटेल दर्ज करनी होगी |
  • उसके बाद खोजें/search के लिंक पर क्लिक करें |
  • अगर आप इस योजना के लाभार्थी होंगें तो आपकी पूरी डीटेल आपके सामने आ जाएगी |

Note — आपका नाम लाभार्थी सूची में है ना नही आप यह टेलीफ़ोन करके भी पता कर सकते हैं या अपने नज़दीकी पंचायत घर में जाकर भी पता कर सकते हैं |

Ayushman Bharat Yojana Toll Free Number — 14555

Ayushman Bharat Yojana Eligibility / आयुष्मान भारत योजना के लिए पात्रता

SECC सर्वे 2011 के अनुसार 10 करोड़ परिवारों में से 8 करोड़ ग्रामीण परिवार हैं और 2 करोड़ शहरी परिवार हैं | ग्रामीण और शहरी लोगों में से जो लोग इस योजना के लाभार्थी हैं वह इस योजना की पात्रता को जान लें | आयुष्मान भारत योजना के लिए पात्रता इस प्रकार है |

Note — इस योजना का लाभ उन्ही को मिलेगा जिनकी मासिक आय 10000 रुपय से कम होगी |

ग्रामीण क्षेत्रों के पात्रता

  1. कच्ची दीवार और कच्ची छत के सहारे एक कमरे में रहने वाला परिवार |
  2. परिवार में 16 से 59 उम्र के बीच कोई भी व्यस्क सदस्य नही होना चाहिए |
  3. ऐसा परिवार जिसमे केवल महिलाएँ घर को संभालती हों |
  4. ऐसा परिवार जिसमे कम से कम एक विकलांग सदस्य हो और कोई सक्षम व्यस्क सदस्य ना हो |
  5. SC/ST परिवार |
  6. बिना घर वाले परिवार |
  7. निराशरित परिवार
  8. आदिवासी जनजाति समूह के परिवार
  9. क़ानूनी रूप से बँधे श्रमिक परिवार
  10. मासिक आय 10000 रुपय से कम होनी चाहिए

शहरी क्षेत्रों के लिए पात्रता

  1. कूड़ा उठाने वाला
  2. भिखारी
  3. घरेलू कर्मचारी
  4. निर्माण कार्यकर्ता जैसे प्लम्बर, मेसन, श्रम, पेंटर, वेल्डर, सुरक्षा गार्ड, कूलि और एक और हेड-लोड वर्कर
  5. स्वीपर, स्वच्छता कार्यकर्ता, माली
  6. गृह-आधारित कर्मचारी, कारीगर, हस्तशिल्प कार्यकर्ता, दर्जी
  7. परिवहन कर्मचारी, चालक, कंडक्टर, सहायक और चालक, कार्ट खींचने वाला, रिक्शा खींचने वाला सहायक
  8. इलेक्ट्रीशियन, मैकेनिक, असेंबलर, मरम्मत कार्यकर्ता
  9. वॉशर-मैन, चौकीदार
  10.  10000 रुपय से कम मासिक आय हो |

आयुष्मान भारत योजना के लिए ज़रूरी कागजात

हस्पताल में भर्ती होने से पहले आपको निम्नलिखित दस्तावेज़ो की आवश्यकता होगी —

  • आय प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • आयुष्मान कार्ड
  • ई-कार्ड

NOTE — आपके पास  राशन कार्ड,आधार कार्ड,आयुष्मान कार्ड या ई-कार्ड में से कोई एक होना ज़रूरी है | अगर आप इस योजना के लाभार्थी होंगें तो सरकार द्वारा आपको ई-कार्ड दिया जाएगा |

क्या करना होगा मरीजों को हस्पताल जाकर

  • सबसे पहले हस्पताल में तैनात किए गये आयुष्मान मित्रों के पास जाना होगा |
  • अपना कोई पहचान पत्र आयुष्मान मित्र को देना होगा ताकि वह आपकी पुष्टि कर सके |
  • पुष्टि होने के बाद आपकी एक फोटो आयुष्मान मित्र द्वारा ली जाएगी |
  • अब आपको अपना रिश्ता आपके परिवार से क्या है यह आयुष्मान मित्र को बताना होगा |
  • इसके बाद record सेव कर लिया जाएगा और आपको एक अस्थाई कार्ड दिया जाएगा |
  • अब आपका केस सत्यापन प्राधिकरण विभाग को सौंपा जाएगा |
  • केस approve(मंजूर) होने के बाद आपके रेकॉर्ड को गोलडेन रेकॉर्ड के नाम से सेव कर लिया जाएगा |
  • उसके बाद आपको ABPMJAY का e-card दे दिया जाएगा |

आयुष्मान भारत योजना के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करे

दोस्तों आपको किसी भी प्रकार के आवेदन पत्र भरने या पंजीकरण करवाने की आवश्यकता नही है | इस योजना के लिए जो लोग चुने जाएँगे वह 2011 की जनगणना में के दौरान जिन ग़रीब लोगों की सूची त्यार की गयी है व इस आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी होंगें या हम यह कहें कि Socio Economic and Caste Census(SECC 2011) की जनगणना में जो लोग होंगें वह इस योजना के लाभार्थी माने जाएँगे | सरकार इस योजना के लाभार्थी के घरों पर पत्र भेज कर सूचित कर देगी | अगर आप इस योजना के बारे में और अधिक जानकारी चाहिए तो यहाँ क्लिक करें |

प्यारे दोस्तों आयुष्मान भारत योजना जानकारी किस प्रकार लगी अगर आप इससे संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो हमारे कमेंट बॉक्स पर लिख दीजिए हम उसका उत्तर अवश्य देंगे आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक और शेयर कर सकते हैं |

Source:

https://hindi.news18.com/news/business/answers-to-five-big-questions-on-ayushman-bharat-scheme-1480269.html

https://en.wikipedia.org/wiki/Ayushman_Bharat_Yojana

Read more at:
//economictimes.indiatimes.com/articleshow/65422257.cms?utm_source=contentofinterest&utm_medium=text&utm_campaign=cppst

Leave a Reply

avatar
300
  Subscribe  
Notify of

eJobMitra - Rajasthan Best Free Job Alert 2018 Terms and Conditions | Privacy Policy | Disclaimer | Contact Us